चंडीगढ़ : बाजार में बीक रहे हैँ मिलावटी सैनिटाइजर – कंपनियों पर की जाएगी कार्रवाई

0
447

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सैनिटाइजर का महत्व काफी बढ़ गया है। यह हर जगह तेजी से इस्तेमाल किया जा रहा है, चाहे घर पर या कार्यालय में, लेकिन इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि इस्तेमाल किया जा रहा सैनिटाइजर वायरस को मारने में सक्षम है। चंडीगढ़ स्वास्थ्य विभाग ने हाल ही में बाजार में बेचे जा रहे सैनिटाइज़र के नमूने भरे थे, जिनमें से पाँच नमूने मानदंडों को पूरा नहीं करते थे, जिसका अर्थ है कि वे असफल रहे।

                   

चंडीगढ़ प्रशासन अब सैनिटाइजर कंपनियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने जा रहा है। इन कंपनियों को अगले दो से तीन दिनों में अधिसूचित किया जाएगा। जवाब मिलते ही उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी स्वास्थ्य विभाग से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि चंडीगढ़ से कुल 16 नमूने लिए गए, जिनमें से पाँच फेल हो गए। चार नमूनों में मेथनॉल की मानक मात्रा से कम पाया गया, जबकि एक नमूने में मेथनॉल की मिलावट पाई गई।

                       

मेथनॉल शराब का एक रूप है। यह सैनिटाइज़र में कम से कम 65% होना चाहिए, लेकिन असफल नमूने में यह निर्धारित मानक से कम पाया जाता है। ड्रग कंट्रोलर के कार्यालय प्रभारी अमित दुग्गल ने कहा कि इन कंपनियों के खिलाफ नोटिस भेजे जा रहे हैं। जवाब मिलने के बाद कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। सैंपल फेल होने के बाद हरियाणा में सैनिटाइजर कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई और उनके ड्रग लाइसेंस भी निरस्त कर दिए गए।

LEAVE A REPLY